मुख्यमंत्री चिरंजीवी स्वास्थ्य बीमा योजना 2021: ऑनलाइन आवेदन व पंजीकरण प्रक्रिया | रजिस्ट्रेशन

Chief Minister Chiranjeevi Health Insurance Scheme 2021: Online Application and Registration Process

Mukhyamantri Chiranjeevi Swasthya Bima Yojana Online Apply | मुख्यमंत्री चिरंजीवी स्वास्थ्य बीमा योजना  ऑनलाइन आवेदन | चिरंजीवी स्वास्थ्य बीमा योजना पंजीकरण प्रक्रिया | राजस्थान चिरंजीवी स्वास्थ्य बीमा योजना आवेदन फॉर्म

सरकार द्वारा देश के सभी नागरिकों के लिए स्वास्थ्य सुविधाएं बेहतर बनाने के लिए विभिन्न प्रकार की योजनाओं का लगातार संचालन किया जाता है। स्वास्थ्य सेवाओं को बेहतर बनाने के लिए सरकार द्वारा कई बीमा योजनाएं भी संचालित की जाती हैं। आज हम आपको इसी के तहत राजस्थान सरकार की ऐसी ही एक योजना से संबंधित जानकारी प्रदान करने जा रहे हैं। जिसका नाम Mukhyamantri Chiranjeevi Swasthya Bima Yojana है। इस योजना के अंतर्गत प्रदेश के सभी नागरिकों को स्वास्थ्य बीमा प्रदान किया जाएगा। इस लेख को पढ़ने के बाद आपको इस योजना से संबंधित सभी जानकारी प्राप्त हो जाएँगी। जैसे कि मुख्यमंत्री चिरंजीवी स्वास्थ्य बीमा योजना क्या है?, इसके लाभ, उद्देश्य, पात्रता, विशेषताएं, महत्वपूर्ण दस्तावेज, आवेदन प्रक्रिया आदि के बारे में। तो दोस्तों यदि आप इस योजना से संबंधित सभी महत्वपूर्ण जानकारी प्राप्त करना चाहते हैं तो आप से आग्रह है कि आप हमारे इस लेख को अंत तक जरूर पढ़े और अपने दोस्तों को भी इस योजना के बारे में जानकारी दे और हमारा ये पथ उनके साथ शेयर करे।

Mukhyamantri Chiranjeevi Swasthya Bima Yojana

राजस्थान के मुख्यमंत्री श्री अशोक गहलोत जी के द्वारा Mukhyamantri Chiranjeevi Swasthya Bima Yojana 1 मई 2021 से आरंभ होने जा रही है। इस योजना के अंतर्गत सरकारी एवं योजना से जुड़े निजी अस्पतालों में भर्ती होने पर लाभार्थी को ₹5,00,000 तक के मुफ्त इलाज की सुविधा प्रदान की जाएगी। मुख्यमंत्री जी द्वारा 27 मार्च 2021 इस बारे में एक बैठक किया गया था और उसमे ये फैसला लिया गया है। इस बैठक में मुख्यमंत्री ने इस योजना की तैयारियों को लेकर समीक्षा भी की है। मुख्यमंत्री जी द्वारा यह भी बताया गया कि प्रदेश के नागरिकों को मुख्यमंत्री निशुल्क दवा और जांच योजना के माध्यम से ओपीडी में निशुल्क चिकित्सा का लाभ पहले से प्राप्त हो रहा था।

PM Jan Arogya Yojana

अब इस योजना के माध्यम से अस्पताल में भर्ती होने पर भी निशुल्क इलाज प्रदान किया जाएगा। अब प्रदेश के सभी परिवार ₹500000 तक की स्वास्थ्य बीमा का लाभ प्राप्त कर सकेंगे।

Mukhyamantri Chiranjeevi Svasthya Bima Yojana 2021 के माध्यम से चिकित्सा में होने वाले बड़े खर्च से लोगों को मुक्ति मिलेगी। इसी के साथ प्रदेश के हर एक नागरिक को बेहतर चिकित्सा सुविधा प्राप्त होगी।

1.31 करोड़ परिवारों ने कराया पंजीकरण

Mukhyamantri Chiranjeevi Swasthya Bima Yojana की घोषणा सन 2021–22 के बजट के माध्यम से की गई थी। इस योजना के माध्यम से सभी लाभार्थियों को सरकारी एवं एंपैनल निजी अस्पताल ने प्रतिवर्ष ₹5,00,000 तक का मुफ्त इलाज करवाने का प्रावधान है। इस योजना के अंतर्गत लगभग 1576 पैकेज और प्रक्रियाओं को शामिल किया गया है। मुख्यमंत्री चिरंजीवी स्वास्थ्य बीमा योजना के अंतर्गत अब तक 1.31 करोड़ परिवारों ने पंजीकरण कराया है। 1 मई 2021 तक लगभग 20,000 से अधिक लोगों ने इस योजना के माध्यम से अपना मुफ्त इलाज करा लिया है। इस बात की जानकारी राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत जी के द्वारा प्रदान की गई। उन्होंने उन सभी परिवारों से भी निवेदन किया है जिन्होंने इस योजना के अंतर्गत अभी तक पंजीकरण नहीं करवाया है कि वह 31 मई 2021 से पहले पहले पंजीकरण करवा ले। यदि उनके द्वारा 31 मई से पहले पंजीकरण नहीं करवाया गया तो उन्हें पंजीकरण करवाने के लिए 3 महीने का इंतजार करना होगा।

अस्पताल की छुट्टी से पहले एवं बात का खर्च भी किया जाएगा कवर

Rajasthan Chiranjeevi Swasthya Bima Yojana के अंतर्गत चिकित्सा, परामर्श, प्रशिक्षण, दवाएं और संबंधित पैकेज से संबंधित चिकित्सा सुविधा शामिल है। अस्पताल से छुट्टी के 15 दिन बाद का खर्च एवं अस्पताल में भर्ती होने से 5 दिन पहले का खर्च भी इस योजना के अंतर्गत कवर जायेगा है। सभी राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम और सामाजिक आर्थिक जनगणना के पात्र लाभार्थियों को पहले से स्वास्थ्य बीमा योजना का लाभ मिल रहा है। लेकिन अब छोटे और सीमांत किसान अथवा संविदा कर्मी भी मुख्यमंत्री चिरंजीवी स्वास्थ्य बीमा योजना के माध्यम से मुफ्त चिकित्सा का लाभ उठा पाएंगे और राज्य के अन्य परिवार भी केवल ₹850 प्रति वर्ष के प्रीमियम का भुगतान करके इस योजना का लाभ उठा सकेंगे।

इस योजना के अंतर्गत उन परिवारों को पंजीकरण करवाना होगा जो राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम और सामाजिक आर्थिक जनगणना में शामिल नहीं है।

Mukhyamantri Chiranjeevi Swasthya Bima Yojana
Mukhyamantri Chiranjeevi Swasthya Bima Yojana

अब ब्लैक फंगस के इलाज को भी किया गया योजना में शामिल

जैसे कि आप सभी लोग जानते हैं Mukhyamantri Chiranjeevi Swasthya Bima Yojana को पिछले माह आरंभ किया गया था। इस योजना के माध्यम से राजस्थान सरकार द्वारा ₹500000 तक का स्वास्थ्य बीमा प्रदान किया जाता है। राजस्थान सरकार ने इस योजना के अंतर्गत कोविड-19 के इलाज को भी कवर किया है। अब प्रदेश में ब्लाक फंगस के बढ़ते मामलों को मद्देनजर रखते हुए राजस्थान सरकार द्वारा ब्लॉक फंगस की बीमारी को भी इस योजना के अंतर्गत शामिल करने का निर्णय लिया गया। ब्लैक फंगस एक प्रकार का फंगल इंफेक्शन होता है यह नाक और आंख के रास्ते से मस्तिष्क तक पहुंच जाता है। अब राजस्थान के नागरिक अन्य बीमारियों के साथ कोविड-19 एवं ब्लैक फंगस का इलाज भी मुख्यमंत्री चिरंजीवी स्वास्थ्य बीमा योजना के माध्यम से निशुल्क करवा सकेंगे।

Mukhyamantri Chiranjeevi Swasthya Bima Yojana के अंतर्गत बड़ी पंजीकरण करवाने की तिथि

मुख्यमंत्री चिरंजीवी स्वास्थ्य बीमा योजना को आरंभ करने के बाद एक माह तक इस योजना के अंतर्गत पंजीकरण प्रक्रिया चलने का निर्णय लिया गया था। लेकिन कोविड-19 की दूसरी लहर की वजह से Mukhyamantri Chiranjeevi Swasthya Bima Yojana के अंतर्गत काफी सारे लोग पंजीकरण नहीं करवा पाए। इसलिए राजस्थान सरकार द्वारा इस योजना के अंतर्गत पंजीकरण करवाने की अवधि को 1 माह के लिए और बढ़ा दिया गया है। प्रदेश की वह सब नागरिक जो इस योजना का लाभ प्राप्त करना चाहते हैं वह जल्द से जल्द इस योजना के अंतर्गत पंजीकरण करवा ले। पंजीकरण करवाने की पूरी प्रक्रिया आप हमारे इस लेख के माध्यम से देख सकते है।

लगभग 8496 नागरिकों को पहुंचा लाभ

Mukhyamantri Chiranjeevi Swasthya Bima Yojana राजस्थान सरकार की महत्वाकांक्षी योजनाओं में से एक योजना है। इस योजना के लागू होने के बाद से अब तक लगभग 5.86 करोड़ रुपए की राशि बुक की जा चुकी है। जिससे कि 8496 नागरिकों को निशुल्क इलाज प्रदान किया जाएगा। इस संबंध में 10,000 से भी ज्यादा क्लेम बीमा कंपनी को सबमिट किए गए हैं। कोरोनावायरस संक्रमण को देखते हुए इस योजना में कुछ संशोधन भी किए गए हैं। इन संशोधनों के अनुसार एंपेनल्ड हॉस्पिटल में कोविड-19 के इलाज के लिए पैकेज की संख्या बढ़ा कर तीन करने का निर्णय लिया गया है। इसके अलावा उपचार पैकेज की दरों को भी बढ़ा दिया गया है।

यह दरें अब ₹5000 प्रतिदिन से लेकर ₹9900 प्रतिदिन कर दी गई है। इस योजना के माध्यम से लाभार्थियों को परामर्श शुल्क, बेड, भोजन, निर्धारित उपचार, नर्सिंग चार्जेस, कोविड-19 टेस्ट आदि जैसी सुविधाएं निशुल्क प्रदान की जाएंगी।

चित्तौड़गढ़ जिले द्वारा प्राप्त किया गया 45.41% का लक्ष्य

राजस्थान सरकार द्वारा प्रत्येक जिले को मुख्यमंत्री चिरंजीवी स्वास्थ्य बीमा योजना के अंतर्गत आवेदन प्राप्त करने का एक लक्ष्य प्रदान किया गया था। सभी जिलों द्वारा यह लक्ष्य प्राप्त करने का पूरा प्रयास किया जा रहा है। इस लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए चित्तौड़गढ़ जिले ने इस योजना के अंतर्गत दूसरा स्थान हासिल किया है। चित्तौड़गढ़ जिले को 203469 आवेदन प्राप्त करने का लक्ष्य दिया गया था। जिले में अब तक 93315 आवेदन प्राप्त किए गए हैं। यह संख्या टारगेट की 45.41% है। Mukhyamantri Chiranjeevi Swasthya Bima Yojana

  • चित्तौड़गढ़ जिले के जिला कलेक्टर द्वारा भी लोगों से बार-बार इस योजना के अंतर्गत आवेदन करने की अपील की गई थी। क्योंकि इस समय कोरोना वायरस संक्रमण की दूसरी लहर चल रही है और मुख्यमंत्री चिरंजीवी स्वास्थ्य बीमा योजना के माध्यम से कोरोना वायरस संक्रमण का इलाज भी निशुल्क करवाया जा सकता है।
  • यदि लाभार्थी इस योजना के अंतर्गत पंजीकृत होगा तो वह आर्थिक तंगी के कारण उपचार से वंचित नहीं रहेगा। चित्तौड़गढ़ में वे सभी परिवार जो पंजीकरण करने में असमर्थ थे उन्हें  संस्था एवं संगठन के माध्यम से पंजीकृत किया गया है।
  • लक्ष्य को प्राप्त करने की रैंकिंग में जयपुर टारगेट का 51.57% हिस्सा हासिल करके पहले स्थान पर है। इसके अलावा चित्तौड़गढ़ जिला दूसरे, टोंग जिला तीसरे, भरतपुर जिला चौथे एवं हनुमानगढ़ जिला पांचवें स्थान पर है।

Mukhyamantri Chiranjeevi Swasthya Bima Yojana के अंतर्गत आप सभी निशुल्क आवेदन कर सकते है

इस योजना राजस्थान सरकार ने सभी नागरिकों तक ₹500000 तक का स्वास्थ्य बीमा पहुंचाने के लिए आरंभ किया है। इस योजना का लाभ उठाने के लिए प्रदेश के नागरिकों को ₹850 के प्रीमियम का प्रति वर्ष भुगतान करना होगा। राजस्थान सरकार द्वारा अब यह निर्णय लिया गया है की ई मित्र के माध्यम से पंजीकरण करवाने पर आवेदक को किसी प्रकार के आवेदन शुल्क का भुगतान करने की आवश्यकता नहीं है। आवेदन शुल्क राजस्थान सरकार द्वारा वहन किया जाएगा। इस बात की घोषणा मुख्यमंत्री अशोक गहलोत जी के द्वारा उनके निवास पर हुई समीक्षा बैठक में की गई। लाभार्थियों को अब केवल प्रीमियम की राशि का भुगतान करना होगा।

मुख्यमंत्री जी के द्वारा सभी अधिकारियों को यह भी निर्देश दिए गए हैं कि वह इस बात का खास ध्यान रखें कि इस योजना का लाभ सभी पात्र लाभार्थियों तक पहुंचे। कोई भी पात्र लाभार्थी इस योजना के लाभ से वंचित ना रहे। मुख्यमंत्री चिरंजीवी स्वास्थ्य बीमा योजना के माध्यम से प्रदेश के नागरिकों के स्वास्थ्य के लिए होने वाले 3.5 हजार करोड़ रुपए के खर्च को राजस्थान सरकार द्वारा वहन किया जाएगा।

चिरंजीवी स्वास्थ्य बीमा योजना का उद्देश्य

इस योजना का मुख्य उद्देश्य प्रदेश के सभी नागरिकों को ₹500000 तक का स्वास्थ्य बीमा प्रदान करना है। इस योजना के माध्यम से प्रदेश का कोई भी नागरिक बीमार होने पर उपचार से वंचित नहीं रहेगा। अब प्रदेश का प्रत्येक नागरिक बेहतर चिकित्सा सुविधा प्राप्त कर सकेगा। इसी के साथ प्रदेश के नागरिकों को बीमारी के इलाज में होने वाले बड़े खर्च से मुक्ति मिलेगी। इस योजना का लाभ वह परिवार भी उठा सकते हैं जो राष्ट्रीय खाद सुरक्षा अधिनियम और सामाजिक आर्थिक जनगणना में शामिल नहीं है। Mukhyamantri Chiranjeevi Svasthya Bima Yojana के माध्यम से अब प्रदेश के नागरिक आर्थिक स्थिति कमजोर होने पर भी अपना अच्छा से अच्छा इलाज करवा पाएंगे।

मुख्यमंत्री चिरंजीवी स्वास्थ्य बीमा योजना पंजीकृत लाभार्थी स्टैटिसटिक्स

कृषक (लघु एवं सीमांत)1458607
संविदा कर्मी (समस्त विभाग/बोर्ड/निगम/सरकारी कंपनी)66995
राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम (NFSA)10489833
सामाजिक आर्थिक जनगणना (SECC 2011) के पात्र परिवार1199
निरीक्षक एवं असहाय परिवार covid-19 ex-gratia298739
निशुल्क श्रेणी के अलावा सभी परिवार ₹850 प्रति परिवार प्रतिवर्ष742466

इन नागरिकों को नहीं करना होगा प्रीमियम का भुगतान

इस योजना के अंतर्गत लाभार्थियों को ₹850 के प्रीमियम का भुगतान करना होगा। लेकिन राष्ट्रीय खाद सुरक्षा और सामाजिक आर्थिक जनगणना 2011 में आने वाले 1,10,00,000 परिवार, लघु एवं सीमांत किसान के अंतर्गत आने वाले 13 लाख परिवार एवं संविदा कर्मी के 4 लाख परिवारों को इस योजना का लाभ प्राप्त करने के लिए किसी प्रकार के प्रीमियम के भुगतान करने की आवश्यकता नहीं है। वह इस योजना का लाभ निशुल्क प्राप्त कर सकते हैं।  इनके अलावा अन्य परिवारों को ₹850 के प्रीमियम का भुगतान करना होगा। मुख्यमंत्री जी के द्वारा इस योजना का प्रचार प्रसार करने के भी निर्देश सभी अधिकारियों को दिए गए हैं। जिससे कि सभी पात्र नागरिकों तक इस योजना का लाभ पहुंच सके।

  • राजस्थान प्रदेश के सभी नागरिकों तक स्वास्थ्य बीमा पहुंचाने वाला पहला राज्य बना है। यदि आपने इस योजना के अंतर्गत 30 अप्रैल 2021 से पहले पहले पंजीकरण नहीं करवाया तो आपको पंजीकरण करवाने के लिए 3 महीने का इंतजार करना होगा।
  • मुख्यमंत्री अशोक गहलोत जी के द्वारा 10 अप्रैल 2021 को दोपहर 12:30 बजे से एक वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से जनप्रतिनिधि और कर्मियों के साथ इस योजना के संबंध में संवाद किया गया। इस संवाद का विभिन्न सोशल मीडिया चैनल के माध्यम से प्रसारण किया गया।

Mukhyamantri Chiranjeevi Swasthya Bima Yojana टोल फ्री नंबर की सुविधा

इस योजना को राजस्थान सरकार द्वारा राजस्थान के सभी नागरिकों को स्वास्थ्य बीमा प्रदान करने के लिए आरंभ किया गया है। इस योजना के अंतर्गत पंजीकरण प्रक्रिया आरंभ हो गई है। पंजीकरण के दौरान आवेदकों को कई सारी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। इस वजह से स्वास्थ्य विभाग, राजस्थान द्वारा टोल फ्री नंबर की सुविधा आरंभ की गई है। इस टोल फ्री नंबर पर संपर्क करके आवेदक अपनी समस्याओं का समाधान कर सकते हैं। यह टोल फ्री नंबर 18001806127 है।

  • इस योजना के अंतर्गत पंजीकरण करवाने के लिए 10 अप्रैल 2021 तक शिविरों का आयोजन किया जा रहा है। 10 अप्रैल 2021 के बाद भी आवेदकों द्वारा पंजीकरण करवाया जा सकता है।
  • यह पंजीकरण आधिकारिक वेबसाइट के माध्यम से या ईमित्र के माध्यम से 30 अप्रैल 2021 तक किया जा सकता है। 1 मई 2021 से इस योजना का लाभ मिलना आरंभ हो जाएगा।
  • इस योजना के लाभार्थी कम्युनिटी हेल्थ सेंटर, डिस्ट्रिक्ट हॉस्पिटल, सेटेलाइट हॉस्पिटल, मेडिकल कॉलेज से जुड़े हॉस्पिटल, रेलवे हॉस्पिटल, प्राइवेट हॉस्पिटल आदि के माध्यम से इस योजना का लाभ उठा सकते हैं।

मुख्यमंत्री चिरंजीवी स्वास्थ्य बीमा योजना प्रीमियम

इस योजना का लाभ उठाने के लिए पात्र परिवार को बीमा प्रीमियम की 50% राशि यानी कि न्यूनतम ₹850 सालाना प्रीमियम के रूप में जमा करना होगा। जिससे कि उन्हें ₹500000 का कैशलेस इलाज प्राप्त होगा। इस योजना के माध्यम से लाभार्थी परिवार को विभिन्न बीमारियों का इलाज प्रदान किया जाएगा। इस योजना में लगभग 1576 पैकेज और प्रोसीजर शामिल किए गए हैं। मुख्यमंत्री चिरंजीवी स्वास्थ्य बीमा योजना के अंतर्गत अस्पताल में भर्ती होने से 5 दिन पहले तथा अस्पताल से डिस्चार्ज होने के 15 दिन बाद का निशुल्क उपचार शामिल है। इस उपचार में चिकित्सा परामर्श, जाचे, दवाइयां आदि शामिल है।

मुख्यमंत्री चिरंजीवी स्वास्थ्य बीमा योजना के मुख्य तथ्य

  • Mukhyamantri Chiranjeevi Swasthya Bima Yojana के माध्यम से राजस्थान के प्रत्येक परिवार को ₹500000 तक के कैशलेस इलाज की सुविधा प्रदान की जाएगी।
  • इस योजना के अंतर्गत राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम और सामाजिक आर्थिक जनगणना 2011 के लाभार्थियों को पंजीकरण करवाने की आवश्यकता नहीं है।
  • आधिकारिक वेबसाइट के माध्यम से लघु व सीमांत कृषक, संविदा कर्मी एवं अन्य लाभार्थी खुद रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं या फिर ई मित्र पर रजिस्ट्रेशन करवा सकते हैं।
  • इस योजना के अंतर्गत आवेदन करने के लिए जन आधार नंबर या जन आधार पंजीयन रसीद होना अनिवार्य है।
  • यदि आपके पास जन आधार कार्ड नहीं है तो आपको इस योजना का लाभ प्राप्त करने के लिए सर्वप्रथम जन आधार नामांकन करवाना होगा।
  • इस योजना के अंतर्गत 1 से 10 अप्रैल 2021 तक ग्राम पंचायत स्तर पर पंजीकरण के लिए विशेष शिविरों का आयोजन किया जाएगा।
  • लाभार्थी द्वारा 1 अप्रैल से लेकर 30 अप्रैल 2021 तक खुद या फिर ई मित्र के माध्यम से भी रजिस्ट्रेशन करवाया जा सकता है।
  • इस योजना का लाभ 1 मई 2021 से मिलेगा।
  • राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम, सामाजिक आर्थिक जनगणना के पात्र परिवार, लघु एवं सीमांत कृषक व संविदा कर्मी का बीमा प्रीमियम राज्य सरकार द्वारा वाहन किया जाएगा।
  • इसके अलावा अन्य परिवारों को ₹850 प्रति वर्ष प्रीमियम का भुगतान करना होगा।

Mukhyamantri Chiranjeevi Swasthya Bima Yojana के लाभ तथा विशेषताएं

  • मुख्यमंत्री चिरंजीवी स्वास्थ्य बीमा योजना को राजस्थान के मुख्यमंत्री श्री अशोक गहलोत जी के द्वारा आरंभ किया गया है।
  • इस योजना 1 मई 2021 से आरंभ किया जाएगा।
  • इस योजना के माध्यम से सरकारी एवं योजना से जुड़े निजी अस्पताल में भर्ती होने पर लाभार्थी को ₹500000 तक की निशुल्क इलाज की सुविधा प्रदान की जाएगी।
  • Mukhyamantri Chiranjeevi Swasthya Bima Yojana के माध्यम से चिकित्सा में होने वाले बड़े खर्च से प्रदेश के नागरिकों को मुक्ति मिलेगी।
  • अब प्रदेश का प्रत्येक नागरिक बेहतर स्वास्थ्य सुविधा प्राप्त कर सकेगा।
  • इस योजना के अंतर्गत उन परिवारों को पंजीकरण करवाना होगा जो राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम और सामाजिक आर्थिक जनगणना में शामिल नहीं है।
  • Chiranjeevi Swasthya Bima Yojana के अंतर्गत स्वयं ऑनलाइन आवेदन किया जा सकता है तथा ई मित्र के माध्यम से भी आवेदन किया जा सकता है।
  • इस योजना के अंतर्गत पंजीकरण प्रक्रिया 1 अप्रैल 2021 से आरंभ होने जा रही है।
  • यह पंजीकरण ग्राम पंचायत स्तर पर शिविर के माध्यम से भी किए जाएंगे।
  • अब देश का कोई भी नागरिक बीमार होने पर उपचार से वंचित नहीं रहेगा।
  • सभी अधिकारियों द्वारा इस योजना का व्यापक प्रचार-प्रसार किया जा रहा है। जिससे कि इस योजना की जानकारी सभी पात्र लाभार्थियों तक पहुंचाई जा सके।
  • इस योजना के अंतर्गत राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम और सामाजिक आर्थिक जनगणना के पात्र लाभार्थियों के साथ-साथ संविदाकर्मी, लघु एवं सीमांत कृषक को को भी शामिल किया गया है।
  • सरकार द्वारा इस योजना का बजट 3500 करोड़ रुपए निर्धारित किया गया है।

मुख्यमंत्री चिरंजीवी योजना मे स्वयं के द्वारा पंजीयन कराने हेतु प्रक्रिया

  1. योजना में स्वयं ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन करवाने के लिए आपको सबसे पहले अपनी एसएसओ आईडी बनानी होगी। इसे आप sso.rajasthan.gov.in वेबसाइट लिंक पर जाकर बना सकते है।
  2. योजना में अपना रजिस्ट्रेशन कराने के लिए ववभागीय वेबसाइट health.rajasthan.gov.in/mmcsby पर रजिस्ट्रेशन के लिए दिये लिंक पर जाकर अपनी एसएसओ आईडी से log-in करें।
  3. आपको यहां पर दो विकल्प दिखाई देंगे। पहला Free और दूसरा Paid. आप अपनी निर्धारित श्रेणी के अनुसार दोनों में से एक विकल्प चुन सकते है ।
  4. Free श्रेणी के अंदर राज्य के कृषक (लघु एवं सीमांत) SMF पर, संविदाकर्मी अपनी श्रेणी Contractual पर तथा राज्य सरकार द्वारा कोविड -19 अनुग्रह राषि भुगतान प्राप्त करने वाले निराश्रित एवं असहाय परिवार Covid 19 ex Gratia पर क्लिक करें।
  5. इसके बाि आप अपने जनआधार नम्बर अथवा जनआधार पंजीयन रसीद नम्बर सॉफ्टवेयर में दर्ज कर सर्च करें।
  6. परिवार के सभी सदस्यों के नाम आपको साॅफटवेयर में दिखाई देंगे जिनमे से किसी भी एक सदस्य डिजिटल हस्ताक्षर (ई-सिग्नेचर) करना होगा जिसके लिए आधार कार्ड में दर्ज कराये हुए मोबाइल नम्बर पर ओटीपी आएगा। इस ओटीपी को सॉफ्टवेयर में सबमिट कर इ-सिग्नेचर करना होगा। तत्पश्चात श्रेणी अनुसार आपको अपना विवरण दर्ज करना होगा। इसके बाद आप पॉलीसी डॉक्यूमेंट प्रिंट कर पाएंगे।
  7. Paid श्रेणी के परिवार आवेदन Submit करने पर साॅफटवेयर आपको ऑनलाइन पेमेंट माध्यम पर लेकर जायेगा जहां पर आपको निर्धारित प्रियम राशि 850 रूपये का भुगतान करना होगा। भुगतान के पश्चात पॉलीसी डॉक्यूमेंट का प्रिंट लिया जा सकता है।

मुख्यमंत्री चिरंजीवी स्वास्थ्य बीमा योजना की पात्रता एवं महत्वपूर्ण दस्तावेज

  • आवेदक राजस्थान का स्थाई निवासी होना चाहिए।
  • आवेदक गरीबी रेखा से नीचे जीवन यापन करने वाले परिवार से होना चाहिए।
  • आधार कार्ड
  • बैंक खाता विवरण
  • पासपोर्ट साइज फोटोग्राफ
  • मोबाइल नंबर
  • आय प्रमाण पत्र
  • राशन कार्ड
  • निवास प्रमाण पत्र

Note**** मुख्यमंत्री चिरंजीवी स्वास्थ्य बीमा योजना से जुड़े और भी जानकारी के लिए आप यहाँ क्लिक करके देख सकते है. https://health.rajasthan.gov.in/content/raj/medical/bhamashah-swasthya-bima-yojana/MMCSBY.html

Leave a Comment